साइन बार (sine bar)

 

जब किसी जाब के कोण या टेपर को वर्नियर बेवल प्रोटेक्टर से 5′(5मिनट)की सूक्ष्मता में मापा व चैक किया जाता है।परन्तु जब और अधिक सूक्ष्मता में किसी जाब के कोण या टेपर को चैक करने की आवश्यकता पड़ती है तो साइन बार का प्रयोग किया जाता है।

 

                       बनावट

साइन बार टूल स्टील की बनी हुई एक आयताकार बार होती है।जिसके दोनों सिरो पर स्टेप बने होते है।इसके दोनो सिरों पर प्रत्येक स्टेप में दो रोलरों को स्क्रू से फिट कर देते है।इसके प्रत्येक फेस अच्छी तरह से फिनिश कर दिया जाता है।इसकी साइड़ पर 3 या 4 सुराख बने होते है।जिससे आवश्यकता पड़ने पर कार्य को क्लेम्प किया जाता है।

                      साइज

साइन बार का साइज इसके दोनों रोलरों के सेन्टरों के दूरी से लिया जाता है।भारतीय स्टैंडर्ड (I.S :5399-1969)के अनुसार प्रायः 100,200,300 मि.मी. साइज के साइन बार पाये जाते है।

 

                   सिध्दांत 

साइन बार को समकोण त्रिभुज के आधार पर बनाया गया है,जिसमें साइन कोण का निकाला जाता है।

साइन कोण (A) = लम्ब (a) /कर्ण (b)

साइन कोण = स्लिप गेजो की ऊंचाई/साइन बार का साइज

 

                     साइन बार को सेट करना 

मान लिया 100 मि.मी वाले साइन बार को 32°-20′ के कोण में सेट करना है।तो निम्नलिखित विधी अपनाएंगे-
साइन बार को दिए गए कोण में सेट करने के लिए समकोण ऊंचाई (लम्ब)निकालनी पड़ती है।जिसको निम्न सूत्र से ज्ञात कर सकते है-

साइन कोण =

स्लिप गेजो की ऊंचाई/साइन बार का साइज

या

स्लिप गेजो की ऊंचाई = साइन कोण का मान X साइन बार का साइज

साइन तालिका देखने पर पता चलता है कि 32°-20′ का मान .5348 मान है।

स्लिप गेजो की ऊंचाई = .5348 X 100 = 53.48 मि.मी

इस प्रकार 100 मि.मी वाले साइन बार को सेट करने के लिए 53.48 मि.मी साइज के स्लिप गेजो को जोड़कर साइन बार के एक रोलर के नीचे और सरफेस प्लेट के ऊपर रखकर सेट किया जाता है।

 

                         प्रयोग की विधी

साइन बार से किसी जाॅब के कोण या टेपर को मापने या चैक करने के लिए स्लिप गेज सेट,सरफेस प्लेट और डायल टेस्ट इण्डीकेटर की आवश्यकता पड़ती है।समकोण ऊंचाई अथार्त स्लिप गेजो की ऊंचाई निकालने के बाद स्लिप गेजो को जोड़कर सरफेस प्लेट पर साइन बार के एक रोलर के नीचे रखकर साइन बार को सेट कर दिया जाता है और जिस जाॅब को चैक करना हो उसे साइन बार के ऊपर रखकर डायल टेस्ट इण्डीकेटर से चैक कर लिया जाता है कि जाॅब की ऊपरी सतह समतल है कि नहीं इस प्रकार जाॅब के कोण या टेपर को आसानी से सूक्ष्मता में चैक किया जाता है।

 

                      प्रकार 

1.रेक्टेंगुलर बार टाइप -इस प्रकार के साइन बार का विवरण ऊपर दिया जा चुका है।

2.साइन सेंटर्स टाइप – इस प्रकार के साइन बार में दो एडजस्टेबल सेंटर्स होते है,जिनमें कोनिकल आकारों जाॅब को पकड़कर चैकिंग कि जाती है।

3.साइन टेबल टाइप – इस प्रकार के साइन बार टेबल के आकार के होते है,जिनका प्रयोग बडे साइज के जाब के के लिए किया जाता है।ये दो प्रकार के पाये जाते है- (1)सिम्पल टाइप, (2)यूनिवर्सल टाइप।

 

                   सावधानियां

 

1.कार्य करने से पहले साइन बार को अच्छी तरह साफ कर ले।

2.इसको गिरने से बचाना चाहिए।

3.इसको कटिंग टूल्स के साथ मिलाकर नही रखना चाहिए।

4.सेटिंग करते समय इसका प्रयोग बड़ी सावधानी से करना चाहिए।

5.कार्य समाप्त होने के बाद इसको अच्छी तरह से साफ करके ग्रीस लगाकर रखना चाहिए।

 

आपको मेरी दी गई जानकारी कैसी लगी मुझे जरूर कमेंट करे।

 

ऊष्मा इंजन(heat engine)क्या है?

 

Room air conditioner क्या है?

 

बैटरी(battery) क्या है?