Lancashire boiler लंकाशायर बायलर

 

यह एक भाप बायलर है।जिसमे उष्ण भट्टी गैसे ट्यूबो से गुजरती है।तथा जल इन ट्यूबो के बाहर चारो तरफ होता है।यह एक स्थिर क्षैतिज अन्तः ज्वलित,प्राकृतिक चक्रीकरण,फायर ट्यूब बायलर है।इसमे दो internal furnace अथवा flue tubes होती है।इस बायलर मे बेलनाकार कवच होता है।जिसका व्यास लगभग 2 से 3 मी• तथा 5 से 10 मी• लम्बा होता है।

लंकाशायर बायलर की दक्षता

 

यह बायलर का कार्यकारी दाब 20 बार होता है।इसकी क्षमता 8000 कि•भाप/घंटा से 10,000 कि•भाप/घंटा होती है।heating surface एंव grate area का अनुपात 24 से 30 के बीच रहता है।

बायलर की कार्यकारी सिध्दांत

 

इसमे बायलर की पूरी लम्बाई के along मे दो flue tubes रहती है।बायलर external flues बनाते हुए brick work मे स्थापित रहता है।जिससे कवच का बाहरी भाग heating surface के अंग के रूप मे कार्य करता है।brick work setting द्वारा दो side flues तथा एक bottem tube बनी होती है।internal flue tubes का पिछले सिरे पर व्यास बायलर के निचले हिस्से को सुलभता प्रदान करने के लिए,कम होता है।एक fire grate,जिसे भट्टी भी कहते है,flue tube के एक सिरे पर लगाई जाती है,जिस पर ठोस ईधन जलता है।
grate के अन्त मे,फ्लू गैसो को ऊपर की तरफ विक्षेपित करने के लिए एक brick arch रहती है।इस बायलर मे भट्टी से गैसे बॉयलर के पिछले सिरे से होकर गुजरती है जहॉ वे नीचे जाती है।तथा bottem flue में प्रवेश कर इसमे से बॉयलर के आगे के सिरे की तरफ चलती है। गैंसे फिर अपने आप मे विभाजित होकर side flue में प्रवेश करती हैं तथा उनके द्वारा बॉयलर के पिछले हिस्से को जाती है तथा फिर चिमनी (chimney) से निकल जाती हैं। Sliding doors, जिन्हें Dampers kaha जाता है, चिमनी की side flues से गर्म गैसौ के गुजरने तथा नियंत्रित करने के लिए, side flues के पिछले सिरों पर रखा जाता है। Dampers को Chains द्वारा बाहर से चलाया जाता है।

लंकाशायर बायलर की बनावट

 

बॉयलर में आगे के सिरे की तलहटी में एक blow-off
Cock तथा front end plate पर feed pipe के साथ एक feed check value लगा होता है। इस बॉयलर पर जो mountings बहुधा लगे होते हैं, वे इस प्रकार हैं – दाब गेज (pressure gauge),जल तल सूचक (water level indicator), स्टॉप वाल्व ( स्टॉप valve), सुरक्षा वाल्व (safety valve), उच्च भाप तथा निम्न जल अलार्म ( high steam and low water alarm ) , फ्यूजेबल प्लग (fusible plug) तथा antipriming pipe, सुपरहीटर (super heater) , इकोनोमाजर (economiser) तथा फीड पम्प (feed pump) बॉयलर की सहायक (accessorise) के रूप में रहते हैं।

तो दोस्तो आपको मेरी दी गई जानकारी कैसी लगी मुझे ज़रूर कमेंट करे।

belt drive क्या होता है?

अर्थिंग(earthing)क्या है?इसकी आवश्यकता क्यो होती है?

शक्तिमापी(dynamometer)किसे कहते हैं?

बिलासपुर शहर की महत्वपूर्ण बाते