हेक्सा ब्लेड(hacksaw blade)

हेक्सा ब्लेड एक प्रकार की स्टील की पत्ती होती है।जिसके दोनो तरफ एक एक सुराख होता है।इसके एक या दोनो किनारों पर V आकार के दाते काटे होते है।कार्य के अनुसार ये भिन्न भिन्न साइज में पाये जाते है।भारतीय स्टैण्डर्ड (IS:2594)के अनुसार हेक्सा ब्लेड के चित्र को दिखाया गया है।

मटेरियल– हेक्सा ब्लेड के प्रायः हाई कार्बन स्टील,हाई स्पीड स्टील और लो एलाय स्टील से बनाकर हार्ड व टेम्पर कर दिया जाता है।

 

विवरण – हेक्सा ब्लेड को उसकी लम्बाई,चोड़ाई,मोटाई और पिच के अनुसार निद्रिष्ट किया जाता है।जैसे हेक्सा ब्लेड 250×13×0.63×1.00 मिमी।हेक्सा ब्लेड लंबाई में 250 या 300 मिमी चोड़ाई मे 13 या 16 मिमी मोटाई में 0.63 या 0.80 मिमी और पिच में 0.8,1.0,1.4 या 1.8 मिमी वाले पाये जाते है।साधारणतया हेक्सा ब्लेड की लंबाई दोनो सुराखों के सेंटर्स की बीच की दूरी से ली जाती है।

प्रकार

प्रायः ये निम्नलिखित प्रकार के होते है-

1.फ्लेक्सिबल– इस प्रकार के हेक्सा ब्लेड में केवल दातो वाला भाग ही हार्ड व टेम्पर किया जाता है और पिन होल व ब्लेड की पूरी बाडी को साफ्ट व टफ रखा जाता है।जिससे इस प्रकार का ब्लेड झटको को आसानी से सहन कर सकता है और जल्दी टूटता नही है।

 

2.आल हार्ड- इस प्रकार के ब्लेड में केवल पिन होल को छोड़ कर पूरा ब्लेड हार्ड व टेम्पर कर दिया जाता है।जरा सा झटका लगने से यह ब्लेड टूट सकता है।इसलिए इसको चलाते समय यह ध्यान रखना पड़ता है।कई इस पर झटका न लगने पाये।

 

3.फ्लेक्सिबल सेंटर – इस प्रकार के ब्लेड में दातो के सिरों व ब्लेड के पिछले सिरे को ब्लेड की लंबाई तक हार्ड बाकी भाग स्प्रिंग टेम्पर किया जाता है।

 

4.स्प्रिंग बैक – इस प्रकार के ब्लेड में दातों वाले भाग को हार्ड किया जाता है,तथा बाकी भाग को स्प्रिंग टेम्पर कर दिया जाता है।

 

 

ग्रेड

 

हेक्सा ब्लेड पर जिस श्रेणी में दाते काटे होते है।उसे ब्लेड का ग्रेड कहते है।ग्रेड के अनुसार निम्नलिखित प्रकार के ब्लेड प्रयोग में लाये जाते है।

 

कोर्स

इस ग्रेड के ब्लेड पर प्रत्येक इंच में 14 दाते काटे होते है।जिससे धातु बहुत जल्दी कटती है।इस ग्रेड वाले ब्लेड का अधिकतर प्रयोग मोटी और मुलायम धातुओ को काटने के लिए किया जाता है,जैसे पीतल,तांबा,एल्युमीनियम इत्यादि।भारतीय स्टैण्डर्ड के अनुसार इस पर 18 मिमी पिच के दाते काटे होते है।

 

मिडीयम

इस ग्रेड के ब्लेड पर प्रत्येक इंच में 18 दाते काटे होते है।इस ग्रेड वाले ब्लेड का मुख्य प्रयोग साधारण कार्यो के लिए किया जाता है।इसका प्रयोग माइल्ड स्टील और कास्ट आयरन को काटने के लिए भी किया जाता है।भारतीय स्टैण्डर्ड के अनुसार इस पर 1.4 मिमी के दाते काटे होते है।

 

फाइन

इस ग्रेड के ब्लेड पर प्रत्येक इंच में 24 दाते काटे होते है।इस ग्रेड वाले ब्लेड का अधिकतर प्रयोग मीडियम कार्बन स्टील को काटने के लिए किया जाता है।भारतीय स्टैण्डर्ड के अनुसार इस पर 1.00 मिमी पिच के दाते काटे होते है।

 

वेरी फाइन

इस ग्रेड के ब्लेड पर प्रत्येक इंच में 32 दाते काटे होते है।इस ग्रेड वाले हेक्सा ब्लेड का अधिकतर प्रयोग पतली गेज की चादरों और पाइपों तथा कठोर धातुओ को काटने के लिए किया जाता है।भारतीय स्टैण्डर्ड के अनुसार इस पर 0.8 मिमी पिच के दाते काटे होते है।

 

दांतो की सेटिंग

हेक्सा ब्लेड पर दांतो को दायें व बायें ओर मोड़कर बनाने के क्रम को दांतो की सेटिंग कहते है।हेक्सा ब्लेड पर दांतो की सेटिंग के निम्नलिखित कारण हो सकते है।

1.हेक्सा ब्लेड पर दांतो की सेटिंग होने से ब्लेड अपनी बाॅडी की मोटाई से अधिक मोटाई में काटेगा जिससे ब्लेड कट मे फसता नही है।

2.हेक्सा ब्लेड पर दांतो की सेटिंग होने से इसका प्रयोग करते समय रगड़ की गर्मी(घर्षण) कम पैदा होगी,जिससे ब्लेड अधिक समय तक टिकाऊ बना रहता है।

3.हेक्सा ब्लेड पर दांतो की सेटिंग होने से ब्लेड को चलाने में सुविधा होती है और ब्लेड को कम ताकत से चलाया जा सकता है।

दांतो के सेट

दांतो के सेट पिच पर निर्भर करती है।

1)0.8 मिमी पिच वाले ब्लेड वेवी सेट में पाये जाते है।

2)1.0 पिच वाले ब्लेड प्रायः वेवी या स्टैगर्ड सेट में पाये जाते है।

3)1.00 मिमी से अधिक पिच वाले ब्लेड प्रायः स्टैगर्ड सेट में पाये जाते है।

 

स्टैगर्ड सेट

इस प्रकार के सेट वाले ब्लेड पर एक या दो दांते दाए तथा दो दांते बाए मुडे होते है और इसी क्रम में पूरे ब्लेड पर सेटिंग होती है।इस सेटिंग वाले ब्लेड प्रायः साधारण कार्यो के लिए उपयोग में लाया जाता है।

वेवी सेट

इस प्रकार के सेट वाले ब्लेड पर दांतो की लहर बन जाती है।इस सेटिंग वाले ब्लेड विशेषतया ट्यूब और शीट काटने के लिए प्रयोग होते है।

 

दोस्तो आपको मेरी दी गई जानकारी कैसी लगी मुझको जरूर कमेंट करे।

 

मापन(measurement)क्या है?measurement tools के प्रकार

 

प्रशीतन(refrigeration)किसे कहते है?

 

वेल्डिंग पोजीशन(Welding position)क्या होता है?