क्लच(clutch),ब्रेक(brakes)

क्लच(clutch)एक ऐसी घर्षण युक्ति(friction device)है,जिसके द्वारा दो शाफ्टो को शक्ति पारेषण के लिए गति अवस्था में अथवा गति अवस्था में लाने के लिए एक-दूसरे से जोड़ा जा सकता है अथवा अलग किया जा सकता है।क्लच की सहायता से दो शाफ्टों के बीच शक्ति पारेषण को अपने इच्छा के अनुसार रोका जा सकना सम्भव तथा सरल सरल हो जाता है।क्लच का कार्य चालक भार को गति अवस्था में रखते हुए चलित भाग को उससे अलग कर धीरे-धीरे गति कम करना है।यह दो शाफ्टो के बीच शक्ति पारेषण के लिए अस्थाई कपलिंग है।

यह मुख्यतः दो प्रकार के होते है- 

 

(1)घर्षण क्लच(friction clutch)
(2)जबड़ा क्लच(jaw clutch)
घर्षण क्लच घर्षण बल के कारण शक्ति पारेषित करते है-
घर्षण क्लच के अंतर्गत प्लेट या डिस्क क्लच,शंकु क्लच और अपकेन्द्री क्लच आते है।जहाँ जबड़ा क्लच को धनात्मक क्लच भी कहते है।ये वर्ग जबड़ा तथा स्पारल जबड़ा तरह होते है।
घर्षण क्लच चपटी तथा शंक्वाकार पिवेट तथा काॅलर बियरिंग के सिध्दांत पर समान दाब तीव्रता तथा समान घिसाई के लिए डिजाइन किया जाता है।

ब्रेक

ब्रेक का कार्य भी क्लच जैसा ही है।क्लच की तरह ही ब्रेक की सहायता से ब्रेक वाला भाग ब्रेक लगाने पर घर्षण के कारण तुरन्त रूक जाता है।जबकि दूसरा चालक भाग चल दशा में रहता है।परन्तु अंतिम अवस्था में दोनो ही अंग स्थिर अवस्था में आ जाते है।ब्रेक एक मशीनी अवयव है,जिसका प्राथमिक कार्य मशीन तथा मशीन मेम्बर की गति को नियंत्रित करना है।क्लच तथा ब्रेक में सबसे बड़ा अंतर यह है कि क्लच द्वारा एक गतिशील अवयव को दूसरे गतिशील अवयव में जोड़ा जाता है।जबकि ब्रेक के द्वारा गतिशील अवयव को स्थिर फ्रेम से जोड़ा जाता है।चालन के समय ब्रेक सदैव अलग रहता ह,जबकि क्लच सदैव जुड़ा रहता है।साधारणतः ब्रेक तीन वर्गो (1)द्रवीय ब्रेक (2)विधुत ब्रेक तथा (3)यांत्रिक ब्रेक में बांटे जाते है।यांत्रिक ब्रेक समान्य प्रयोग में आने वाले ब्रेक है।यांत्रिक ब्रेक ब्लाक अथवा शू ब्रेक ,बैंड ब्रेक,बैंड एंव ब्लाक ब्रेक तथा आंतरिक प्रसार ब्रेक होते है।यांत्रिक ब्रेक रेल्वे,फ्रांम कार,hoisting machinery,automobiles आदि में प्रयोग किये जाते है।
आपको मेरी दी गई जानकारी कैसी लगी मुझे जरूर कमेंट करें

सुपर हीटर(super heater)किसे कहते है?

 

इकोनोमाजर(Economiser)किसे कहते है?

 

gear किसे कहते है।gear के प्रकार।